coronavirus train

Coronavirus: कोरोना के कारण राज्‍यों में बंद हो जाएंगी ट्रेनें! रेलवे ने दिया ये जवाब

Last Updated on April 16, 2021, 6:22 PM by team

नई दिल्‍ली. भारत में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के कारण हालात बेकाबू हैं. अस्‍पतालों में मरीजों के लिए बेड और ऑक्‍सीजन (Oxygen) की कमी है. शहरों में नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) और लॉकडाउन (Lockdown) लग रहा है. इस बीच पिछले साल की तरह ही प्रवासी मजदूर (Migrant Workers) भी अपने-अपने घरों को लौट रहे हैं. मुंबई समेत अन्‍य बड़े शहरों के रेलवे स्‍टेशनों (Railway Station) व बस अड्डों पर इनकी भीड़ देखी जा सकती है. इस बीच लोगों को राज्‍यों में ट्रेनों के संचालन (Train) को लेकर भी चिंता सता रही है. इसे लेकर रेलवे बोर्ड (Railway) का बड़ा बयान आया है.

किसी राज्‍य ने रेल बंद करने को नहीं कहा

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने शुक्रवार को इन आशंकाओं के मद्देनजर स्थिति साफ की है. उन्‍होंने कहा है कि अभी तक किसी भी राज्य ने ट्रेन सेवा बंद करने को लेकर कोई बात नहीं की है. उन्होंने कहा कि जहां भी राज्यों ने प्रतिबंधित क्षेत्रों को लेकर चिंता जताई है, वहां यात्रियों की रैंडम जांच और गंतव्य पर पहुंचने पर भी जांच की जा रही है.

रेलवे उठा रहा जरूरी कदम

सुनीत शर्मा ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि रेलवे ने यह बताया है कि आईआरसीटीसी की टिकट बुक करने वाली वेबसाइट पर दिए गए कोरोना प्रोटोकॉल का सभी राज्य सख्‍ती से पालन कर रहे हैं. इस वेबसाइट पर यात्रियों को यह जानकारी दी जा रही है कि यात्री को किन क्षेत्रों में जाने से पहले आरटी-पीसीआर जांच करवाने या कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट लेने की जरुरत है. इसके साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि यात्रियों को किन शहरों में पहुंचने पर कोरोना टेस्‍ट करवाना पड़ेगा.

यात्रियों की हो रही रैंडम जांच

रेलवे बोर्ड के अध्‍यक्ष ने साफतौर पर कहा कि अभी तक किसी भी राज्य की सरकार ने ट्रेनों का संचालन बंद करने को नहीं कहा है. लेकिन जहां भी चिंता की बात है वहां की राज्य सरकारों ने मुद्दे को लेकर हमसे चर्चा की है और जहां भी निषिद्ध क्षेत्र हैं वहां रैंडम जांच की जा रही है. रेलवे ने ई-टिकट कराने की वेबसाइट पर सारी जानकारी दी हुई है.

श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें नहीं चलेंगी

उन्‍होंने यह भी जानकारी दी है कि रेलवे की ओर से यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग की जा रही है. साथ ही कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत जुर्माने की कार्रवाई भी की जा रही है. उन्होंने श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने की संभावना से इंकार कर दिया. सुनीत शर्मा ने बताया कि स्टेशनों पर भीड़ रोकने के मकसद से प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत बढ़ाई गई है.

4000 आईसोलेशन कोच

कोविड केयर सेंटर के रूप में इस्तेमाल होने वाले रेल डिब्बों के बारे में उन्‍होंने जानकारी दी है कि देश में विभिन्न जगहों पर हमारे पास 4,000 आइसोलेशन कोच हैं. हमें महाराष्ट्र के नांदरबार से 100 से ज्यादा बोगियों की मांग आई है और 20 आइसोलेशन कोच मुहैया कराए गए हैं.

Please follow and like us:

Leave a Reply