Farmers Protest

Kisan Andolan: दिल्‍ली में चली तलवार, मुजफ्फरनगर में महापंचायत, किसान आंदोलन का हर अपडेट

Last Updated on February 7, 2021, 1:37 PM by team

Kisan Andolan Live – नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार के कृषि कानूनों (Farm laws) के खिलाफ दिल्‍ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन (Kisan Andolan) पिछले 60 से अधिक दिनों से चल रहा है. 26 जनवरी को किसान ट्रैक्‍टर रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद शुक्रवार को दिल्‍ली में किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) के केंद्र बिंदु सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर एक बार फिर हिंसा देखने को मिली है. यहां आंदोलन पर बैठे किसानों और ग्रामीण लोगों के बीच झड़प हुई. इसमें पुलिस ने बीचबचाव किया. वहीं गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्‍ता और नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) लगातार आंदोलन कर रहे हैं. वहीं मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar Mahapanchayat) में राकेश टिकैत के समर्थन में हजारों किसानों ने महापंचायत की. उन्‍होंने आंदोलन (Farmers Protest) जारी रखने का ऐलान किया है.

Farmers Protest में सिंघु बॉर्डर पर हुई झड़प, चले पत्‍थर

शुक्रवार को दिल्‍ली-हरियाणा सीमा पर स्थित सिंघु बॉर्डर पर किसानों के आंदोलन को देखते हुए बड़ी संख्‍या में पुलिस बल लगाया गया था. शुक्रवार सुबह आंदोलन के दौरान माहौल शांत था. लेकिन दोपहर होते-होते वहां आसपास के गांवों के लोग हाथों में तिरंगा लेकर नारेबाजी करते हुए पहुंच गए. ये लोग मांग कर रहे थे कि किसान सिंघु बॉर्डर पर आंदोलन स्‍थल कर दें. उनका कहना था कि इससे आम लोगों को दिक्‍कत हो रही है.

 

Kisan Andolan: दिल्‍ली पुलिस के एचएसओ को मारी तलवार

नारेबाजी और हंगामे के बीच देखते-देखते सिंघु बॉर्डर पर माहौल बिगड़ गया. ग्रामीण किसानों के आंदोलन स्‍थल पर पहुंच गए और इसके बाद उनके और किसानों के बीच झड़पें शुरू हो गईं. इस बीच माहौल बिगड़ता देख मौजूद पुलिस ने लाठीचार्ज किया. साथ ही आंसू गैस के गोले दागे. इस दौरान कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं.

यह भी पढ़ें: Lal Quila Violence: लाल किला में उपद्रवियों ने जमकर की तोड़फोड़, देखें सामने आई तस्‍वीरें

दिल्‍ली पुलिस के एक एसएचओ को भीड़ में मौजूद एक व्‍यक्ति ने तलवार मारने की कोशिश की. जिससे उनके हाथ में चोट आई और उन्‍हें अस्‍पताल ले जाया गया. हालांकि कुछ देर के हंगामे के बाद पुलिस ने हालात पर काबू कर लिया. किसान आंदोलनस्‍थल पर घुसे स्‍थानीय लोगों को पुलिस ने वहां से खदेड़ दिया.

Kisan andolan: गाजीपुर बॉर्डर पर हलचल

दिल्‍ली के गाजीपुर बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के नेतृत्‍व में किसान अब भी बड़ी संख्‍या में आंदोलन कर रहे हैं. गुरुवार को रात आंदोलनस्‍थल पर बड़ी संख्‍या में पुलिस फोर्स पहुंची थी. ऐसे में कहा जा रहा था कि पुलिस-प्रशासन की ओर से गाजीपुर बॉर्डर को गुरुवार रात को ही खाली करा लिया जाए. लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

 

यूपी के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) ने इस बाबत कहा कि गाजीपुर बॉर्डर पर शांति व्‍यवस्‍था बनाए रखने के लिए पुलि बल तैनात किया गया है. पुलिस लगातार किसानों से बातचीत कर रही है. उन्‍होंने कहा कि हम शुरू से कह रहे हैं कि हम बातचीत के जरिये समस्‍या का हल चाहते हैं.

Muzaffarnagar Mahapanchayat: मुजफ्फरनगर में महापंचायत

दिल्‍ली के गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन का नेतृत्‍व कर रहे राकेश टिकैत के समर्थन में यूपी के मुजफ्फरनगर में महापंचायत (Muzaffarnagar Mahapanchayat) की गई. इसकी अध्‍यक्षता भारतीय किसान यूनियन के अध्‍यक्ष और राकेश टिकैत के भाई नरेश टिकैत ने की. इस दौरान उन्‍होंने राकेश टिकैत को पूरे देश के किसानों का समर्थन जारी रहने की ऐलान किया. साथ ही सरकार पर कई आरोप लगाए. उन्‍होंने यह भी कहा कि ये आवाज नरेश टिकैत की नहीं, ये आवाज महेंद्र सिंह टिकैत की है, चौधरी चरण सिंह की है.

 

मुजफ्फरनगर की इस किसान महापंचायत में आम आदमी के नेता संजय सिंह और आरएलडी नेता जयंत चौधरी भी शामिल हुए. दोनों नेताओं ने किसान आंदोलन और राकेश टिकैत को अपना समर्थन जारी रखने की घोषणा की. इस किसान महापंचायत में बड़ी संख्‍या में किसान नेता और किसान पहुंचे हैं.

Please follow and like us:

Leave a Reply