coronavirus Vaccine

Covid-19 Vaccine: भारत में टीकाकरण का महाभियान शुरू, यहां जानें सबकुछ

Last Updated on January 20, 2021, 5:43 PM by team

नई दिल्‍ली. देश को जिस घड़ी का इंतजार था, वो आ गई. आज यानी 16 जनवरी से भारत में कोरोना वैक्‍सीन (Coronavirus vaccination) के टीकारकरण की अभियान शुरू हो गया. इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने की. भारत में कोरोना वायरस का पहला टीका स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की मौजूदगी में दिल्ली के एक सफाई कर्मचारी को लगाया गया. ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने पिछले दिनों कोरोना वायरस (Coronavirus) की दो वैक्‍सीन (Covid-19 Vaccine) को भारत में आपातकालीन इस्‍तेमाल की मंजूरी दी थी. इसमें सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की कोविशील्‍ड (Covishield) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की कोवैक्सिन (Covaxin) शामिल थीं. इसके बाद केंद्र सरकार व स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने देश में कोविड 19 वैक्‍सीन (Covid-19 Vaccine) के टीकाकरण की शुरुआत 16 जनवरी से करने की घोषणा की. भारत में 16 जनवरी को 3006 केंद्रों पर टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) का शुभारंभ हो गया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने (Narendra Modi Starts corona vaccination Drive) भारत में शनिवार सुबह कोरोना वायरस वैक्‍सीन के टीकाकरण की शुरुआत की. उन्‍होंने इसे दुनिया का सबसे बड़े टीकाकरण अभियान करार दिया है. साथ ही सभी राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से पीएम ने हाल ही में बैठक करके कोरोना वायरस की वैक्‍सीन टीकाकरण को लेकर रणनीति भी बनाई थी. अगर आपके मन में भी है कोरोना वैक्‍सीन को लेकर कई सवाल तो यहां जानिये उनके सभी जवाब…

भारत में कौन-कौन सी वैक्‍सीन लगेगी?

भारत में सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्‍ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सिन को आपातकालीन इस्‍तेमाल की मंजूरी दी जा चुकी है. देश में 16 जनवरी से इन्हीं का टीकाकरण शुरू होगा. इनके आपातकालीन इस्‍तेमेाल का मतलब यह है कि अगर ये दोनों क्‍लीनिकल ट्रायल के चरण में हैं तो भी इनका इस्‍तेमाल किया जा सकता है. बता दें कि दोनों ही वैक्‍सीन को लेकर क्‍लीनिकल ट्रायल अभी चल रहा है.

पहले दिन से किन लोगों को लगेगी कोरोना वैक्‍सीन?
शनिवार यानी 16 जनवरी को देश के 3006 केंद्रों पर कोरोना वैक्‍सीनेशन की शुरुआत होगी. सरकार के अनुसार हर केंद्र पर पहले दिन करीब 100 लोगों को कोरोना वैक्‍सीन लगाई जाएगी. यह टीकाकरण का पहला चरण होगा. इसमें स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी या हेल्‍थ वर्कर्स, सफाईकर्मी, सैन्‍य बल और आपदा प्रबंधन से जुड़े लोगों को वैक्‍सीन लगाई जाएगी.

चुनाव की तरीके होगा टीकाकरण
देश में होने वाले चुनावों की प्रक्रिया की तरह ही कोरोना वैक्‍सीनेशन की प्रक्रिया भी होगा. इसके लिए गृह मंत्रालय ने चुनाव आयोग तक से मतदाताओं का डाटा तक मांगा है ताकि टीकाकरण के लिए लाभार्थियों की प्राथमिकता भी तय की जा सके. मतदान के दिन की ही तरह टीकाकरण के लिए समय भी निर्धारित किया गया है. टीकाकरण के लिए सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक का समय तय किया गया है. हर टीकाकरण केंद्र में मतदान प्रक्रिया के जैसे ही प्रक्रिया अपनाई जाएगी. लाभार्थियों के संबंध हर केंद्र पर जानकारी वाली तीन कॉपियां उपलब्‍घ होंगी.

क्‍या वैक्‍सीन फ्री में लगेगी?
पहले चरण के दौरान लगने वाली कोरोना वैक्‍सीन पूरी तरह से फ्री होगी. इसमें लाभार्थी को कोई पैसा नहीं देना होगा. पीएम मोदी ने भी पिछले दिनों यह जानकारी दी थी कि देश भर में 3 करोड़ लोगों को लगने वाली कोरोना वैक्‍सीन का खर्च केंद्र सरकार उठाएगी. वहीं सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया के प्रमुख अदार पूनावाला ने साफतौर पर कहा था कि पहले 10 करोड़ लोगों को लगने वाली वैक्‍सीन 200 रुपये की होगी. वह इतनी डोज सरकार को देगी. इसके बाद वह कोविशील्‍ड वैक्‍सीन को प्राइवेट बाजार में उतारेगी. फिर इसका खर्च 1000 रुपये प्रति डोज होगा.

कितनी डोज पहुंची हैं देशभर में?
सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्‍ड देशभर के शहरों में पहले चरण के लिए 1.1 करोड़ डोज पहुंचाई गई हैं. वहीं भारत बायोटेक की कोवैक्सिन को देश के शहरों में 55 लाख डोज पहुंचा दी गई हैं. इन्‍हें हाल ही में फ्लाइट के जरिये देश भर में पहुंचाया गया है. हर व्‍यक्ति को वैक्‍सीन की दो डोज दी जाएंगी. ये डोज 28 दिनों के अंतराल में दी जानी हैं.

वैक्‍सीन लगवाने के लिए क्‍या करना होगा?
देश में कोविड 19 वैक्‍सीन लगवाने के लिए सरकार की ओर से लॉन्‍च की गई कोविन एप (CoWin APP) पर खुद को पंजीकृत कराना होगा. इसके बाद आपको तय तारीख और समय उपलब्‍ध कराया जाएगा. उस तय दिन और तारीख को आपको टीकाकरण केंद्र जाना होगा. वहां आपकी आईडी चेक होगी, सूची में आपका नाम चेक होगा. इसके बाद आपको वैक्‍सीन लगाई जाएगी. वैक्‍सीन लगने के 30 मिनट तक आपको अलग निगरानी कक्ष में रखा जाएगा. वहां आपके ऊपर कोविड 19 वैक्‍सीन के प्रभाव को देखा जाएगा. इसके बाद आपको रवाना किया जाएगा. आपको एक डिजिटल सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा. 28 दिन बाद दूसरी डोज के लिए आपको संपर्क किया जाएगा.

Please follow and like us:

Leave a Reply